Donate US$10

EVM की सेटिंग के लिए न्यूनतम कितनी मशीनें काबू में करनी चाहिए?

लंदन स्कूल ऑफ एकोनिमोक्स ने एक शोध के बाद बताया था आधुनिक प्रजातंत्रों में जहां आये दिन राजनैतिक पार्टियां जन्म ले रही है, तो फिर मतदान में बहुमत प्राप्त करने के लिए कुल मत अनुपात दिन-ब-दिन घटता ही जा रहा है। आजकल किसी भी प्रजातन्त्र में शासन शक्त पार्टी अपनी आबादी के मात्र 20 से 30 प्रतिशत जनसंख्या का ही प्रतिनिधत्व कर रही होती है , जिन्होंने उस पार्टी के चुनाव पर अपनी मुहर लगाई हुई होती है।

बरहाल, इस शोध का बड़ा ज्ञान यह था कि यदि मतदान के लिए electronic voting जैसे असुरक्षित पद्धतियां अपनाई जाएं, तो फिर किसी मतदान में चोरी से विजयी होने के लिए किसी पार्टी को जो प्रतिशत EVM काबू में लेनी होगी वह है मात्र 5 % !!!!!
शोध के अनुसार सभी EVM पर कब्ज़ा करने की ज़रूरत नही है। न ही सिर्फ EVM fixing को रणनीति में लगाया जाए। यानी मत विजय करने के अन्य उपाय भी लागू रखें जाए। तो फिर किसी भी हारती हुई पार्टी को जीतने के लिए सिर्फ 100 में 5 मशीनें ही काफी है विजयी बना देने के लिए।

लंदन अर्थशास्त्र विद्यायल विश्व के सर्वोच्च शैक्षिक संस्थाओं में भी सबसे उच्च सूची में शामिल है। यह शोध इसलिए जरूरी था, क्योंकि संयुक्त राष्ट्र जैसी अंतरराष्ट्रीय संस्था के गिरती हुई साख, विफलता के कारणों को टटोला जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र यानी UN जैसी संस्था विश्व शांति और स्थिरता के लिये बनाई गई थीं। इसमे तमाम देशों का प्रतिनिधतीव उनकी सरकारें करती है। अब अगर देशों में सरकार बनाने की पद्धति ही अशुद्ध हो रही है, तो फिर संयुक्त राष्ट्र में पारित निर्णय वास्तव में विश्व की बहुमत आबादी के हैं ही नहीं। बल्कि दमनकारी , शोषण कर्ता वर्ग के हैं।

इस शोध को रूस, तुर्की और मध्य पूर्व खाड़ी देशों की सरकार निर्माण प्रक्रियाओं को नज़र में रखते हुए किया गया था। यह अकस्माक ही था कि भारत मे भी Evm का मुद्दा ठीक तब ही निकल आया जब यह शोध की रिपोर्ट बाहर आने ही वाली थी।

तो अब इस शोध के बड़े बिंदु को भारत के मतदाता को हमेशा स्मरण रखना पड़ेगा यदि वह कभी भी शंका में आये की क्या वाकई में EvM की सेटिंग होती है। यदि लोकसभा 2019 चुनावों में वर्तमान सत्तारूढ़ पार्टी यह चुनाव पराजित भी हो जाये, तब भी। क्योंकि 5% सिर्फ न्यूनतम संख्या ही है, जिसकी शर्त यह है कि EVM का भोग करने के लिए अन्य रणनीतियां और उपाय भी जारी रखते हुए ही EVM  की सेटिंग फिलहाल के समय में काम करेगी।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

नौकरशाही की चारित्रिक पहचान क्या होती है?

भले ही आप उन्हें सूट ,टाई और चमकते बूटों  में देख कर चंकचौध हो जाते हो, और उनकी प्रवेश परीक्षा की कठिनता के चलते आप पहले से ही उनके प्रति नत...

Other posts