Donate US$10

Conform, Comply और Obedience में अंतर

Conform और Comply अंग्रेज़ी भाषा में दो शब्द हैं जिनका हिंदी भाषी अनुवाद बस एक ही होता है , "पालन करना"। मगर मूल भाषा अंग्रेज़ी में दोनों के अभिप्राय, connotation ,  बहोत भिन्न होते हैं।
Conform शब्द के अभिप्राय में एक स्व-चेतना भी होती है, जब इंसान स्वयं से ही समाज के मानकों को पालन करने की ईच्छा (या कहें तो मजबूरी) में किसी कार्य को करना चाहता है। जैसे कि, आम ग्रामीण भारतीय की अक्सर करके ईच्छा रहती है कि जीते-जी वह अपनी बेटी का ब्याह करवा दे। यह एक उदाहरण है comforming आचरण का, जिससे conform शब्द का अभिप्राय और comply शब्द के अभिप्राय में भेद ज़्यादा बेहतरी से समझा जा सकता है।

आगे, बेटी के ब्याह करवाने की तथाकथित अच्छी-भली ईच्छा में conforming आचरण में क्या बिंदु है, उसे समझने के लिए हमे थोड़ा आत्म-मंथन करना होगा -- ऐसा क्या है बेटी के ब्याह करवा देने में जो कि कोई इंसान जीते-जी करने की महत्त्वपूर्ण ईच्छा रखता है। इसके तमाम "कारण" बातये जा सकते हैं , जैसे कि
1) बेटी से अत्याधिक प्रेम, जिससे कि वह आगे सुखमयी जीवन जी सके।

2) किसी धार्मिक /सामाजिक उत्तरदायित्व को पूर्ण करने का सुखद बोध।

3) कोई पुराना वादा, कसम, वचन , इत्यादि।

अब अगर किसी दार्शनिक की भांति इन तमाम कारणों पर विश्लेषण करेंगे, तो आप पाएंगे कि सबसे उपयुक्त कारण , संख्या 2 ही है -- किसी धार्मिक/(अथवा सामाजिक) "उत्तरदायित्व" को पूर्ण करने का बोध।

कारण संख्या 1, मिथक कारण ही होगा, क्योंकि सवाल उठाता है कि फिर बेटे की शादी के ऐसा वजन क्यो नही लेता कोई इंसान ? सवाल, कि क्या गारंटी है कि शादी के उपरांत प्राणप्यारी बेटी को सुखमयी जीवन ही मिलेगा ? क्या दूसरी संस्कृति के लोग भी, वहां भी पिता अपनी पुत्री के ब्याह के लिए ऐसे ही संवेदनशील होते है? यदि नही ,तो फिर क्यों?

इन तमाम सवालों के पीछे जो अनन्तं अन्य सवाल दिखेंगे, वह यह एहसास करवा देंगे कि यह वाला कारण संख्या 1 अपने आप मे मिथक "कारण" ही है कि क्योंकि कोई इंसान अपने जीतेजी बेटी के ब्याह का इतना वजन लेता है।

ले-दे कर जो कारण स्थिर होगा, वह यही की प्रत्येक संस्कृति में इंसान कुछ न कुछ ऐसे सांस्कृतिक ईच्छा रखता है, जिसको वह पालन कर देने अपनी "स्व-चेतना" से करना चाहता अपने मित्र-सम्बन्धीयों की दिखना चाहता है। इसे ही conformity behavior शब्द से दर्शाया जाता है।

अब बात करते हैं comply शब्द की। comply शब्द में स्व-चेतना का तत्व विलुप्त होता है। comply करने में इंसान महज़ औपचारिकता को पूर्ण करता हुआ दिखना चाहता है, ताकि वह किसी संभावित राजदंड या राजा की दी गयी सज़ा से बच सके। जाहिर है कि comply शब्द सरकारी या कानूनी अनिवार्यता को पूर्ण करने संबंधित है, या की पालन करने संबंधित है।

तो एक साधारण शब्दकोष जी की अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद प्रदान करवाता है, वह सिर्फ detonation ही बताता है, यानी शाब्दिक अर्थ । मगर वास्तव में शब्द के बोध में connotation भी तत्व होता है, जो कि सांकृतिक ज्ञान के प्रकाश में ही समझा जा सकता है, शब्दकोश में उसे पकड़ना मुश्किल होता है।

इसी तरह एक और शब्द है, obedience, जो कि पुनः शब्दकोश में यही अर्थ देता है ,"आज्ञा पालन करना"।
मगर अपने connotation में इसके अभिप्राय में यह बोध है कि राजा या किसी पुजारी के आदेश का पालन करना, बिना स्वचेतना के प्रयोग के !

No comments:

Post a Comment

Featured Post

नौकरशाही की चारित्रिक पहचान क्या होती है?

भले ही आप उन्हें सूट ,टाई और चमकते बूटों  में देख कर चंकचौध हो जाते हो, और उनकी प्रवेश परीक्षा की कठिनता के चलते आप पहले से ही उनके प्रति नत...

Other posts